कृषि-व्यापार में चार्ज ERP से क्या बदलाव आ रहे हैं ?

चार्ज ERP मंडी एकाउंटिंग में एक जबरदस्त सुधार लेकर आया है जिससे कमीशन एजेंट का काम हो गया है आसान। चार्ज ERP मंडी एकाउंटिंग में एक जबरदस्त सुधार लेकर आया है जिससे कमीशन एजेंट का काम हो गया है आसान।

कमीशन एजेंट्स कृषि सप्लाई चेन का एक अभिन्न हिस्सा है। यह सप्लायर और खरीददार कोे जोड़ते हैं ताकि आसानी से मंडी में व्यापार हो सके। इनके पास बहुत काम होता है और दिनभर के हिसाब रखने में इनका बहुत समय जाता है।

आमतौर पर पारम्परिक तरीके से ही खाते का हिसाब रखा जाता है। यह बहुत कष्टदायक होता है जिसमेें बही खाते का ख्याल रखना, कागज़ी बिलों और रसीदों को संभाल कर रखना, साथ ही सारे हिसाब किताब को ताले में बंद रखना पड़ता है।

इसका अपना नुकसान है:

  • कागजों के खराब होने का चांस होता है
  • हिसाब में गड़बड़ हो सकती है
  • हिसाब मिलाने में समय लगता है
  • इसे सिर्फ मंडी जा कर ही देखा जा सकता है
  • यह कम सुरक्षित होता है

इन सब बातों को समझते हुए बहुत से कमीशन एजेंट ऑनलाइन एकाउंटिंग सॉफ्टवेयर पर शिफ्ट हो रहे हैं। इन सॉफ्टवेयर को आसानी से डाउनलोड किया जा सकता है। हालांकि अधिकतर सॉफ्टवेयर मंडी के कमीशन एजेंट की जरूरतों का ख्याल रखते हुए नहीं बने हैं। ऐसे में चार्ज ERP ने इसका ख्याल रखा है। यह मार्केट में उपलब्ध सबसे लेटेस्ट ऑनलाइन मंडी एकाउंटिंग सॉफ्टवेयर है। इसमें उन तमाम बातों का ध्यान रखा है जिससे कमीशन एजेंट को सहायता मिले।

आइए जानते हैं कुछ मुख्य विशेषताएं:

  1. जानकारी की सुरक्षा: एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन की वजह से कमीशन एजेंट अपनी सारी महत्वपूर्ण जानकारी यहां पूरी सुरक्षा से स्टोर कर सकते हैं। यह जानकारी उनके सिवा और कोई नहीं देख सकता।
  2. घर से भी एक्सेस कर पाना: एजेंट किसी भी समय और कहीं से भी, किसी भी स्मार्टफोन, लैपटॉप या कंप्यूटर से अपने अकाउंट में लॉग इन कर सकते हैं। उन्हें सिर्फ अच्छे इन्टरनेट कनेक्शन की जरुरत होगी।
  3. क्लाउड स्टोरेज: एकाउंटिंग की सारी जानकारी डिजिटल तरीके से क्लाउड में रहती है। इसकी वजह से एजेंट अपना पुराना डेटा भी यहां अपलोड कर सकते हैं और व्यापर के लाभ के पैटर्न को समझ सकता है।
  4. बिल और रसीद को प्रिंट करें: कमीशन एजेंट आराम से अपनी रिपोर्ट को प्रिंट कर सकते हैं और वहीं से व्हाट्सएप पर ग्राहक और सप्लायर को शेयर भी कर सकते हैं।
  5. रिपोर्ट निकलना: चार्ज ERP के साथ आप रोज़ाना का लाभ और हानि की रिपोर्ट एक क्लिक में आसानी से निकाल सकते हैं। और तो और यह रिपोर्ट आगे किसी को व्हाट्सएप पर शेयर कर सकते हैंं।
  6. रीयल-टाइम सहयोग: चार्ज ERP में कमीशन एजेंट अपनी पूरी टीम को यहाँ जोड़ सकते हैं। एजेंट उनके साथ मिलकर काम कर सकते हैं और साथ साथ टीम की गतिविधियों पर भी नज़र रख सकते हैं।
  7. क्षेत्रीय भाषा में मदद: कमीशन एजेंट को भाषा की चिंता करने की जरुरत नहीं, क्योंकि चार्ज ERP हिंदी और इंग्लिश में उपलब्ध है और कुछ समय में अन्य क्षेत्रीय भाषा में भी आने वाला है।

तो जैसा कि आपने देखा यह क्लाउड-बेस्ड ऑनलाइन एकाउंटिंग सॉफ्टवेयर सब्जी मंडी एकाउंटिंग के सभी पैमानों पर खरा उतरता है। अब और इंतज़ार न करें और www.chargeerp.com पर जाकर आज ही साइन उप करें या +91 9311341199 पर फ़ोन कर अपना फ्री डेमो बुक करें।